पेशाब के बारे में 40 रोचक तथ्य | Urine in Hindi

Amazing Facts about Urine in Hindi – पेशाब के बारे में 40 रोचक तथ्य

पेशाबहमारे शरीर को जो नही चाहिए उसे निकालने का एक बेहतर तरीका है पेशाब. आज मैं gazabhindi पर इस पोस्ट के माध्यम से पेशाब के बारे में 40 रोचक तथ्य बताने जा रहा हूँ, i am sure ये नई पोस्ट आपका नाॅलेज बढ़ाने में मदद करेगी..

1. हमारी मूत्र इकट्ठा करने वाली थैली, केवल 2.5 कप यानि 400 से 600 mL पेशाब स्टोर कर सकती है. जबकि हाथी की थैली 50 लीटर तक कर सकती है।

2. एक औसतन इंसान दिन में 7 बार पेशाब करने जाता है और लगभग 6.3 कप पेशाब करता है यह आपकी diet पर निर्भर है।

3. शरीर से पेशाब “Urethra” नाम की tube से होकर बाहर निकलता है. महिलाओं में इस ट्यूब की लंबाई मात्र 1.2 से 1.6 इंच, जबकि पुरूषों में इसकी लंबाई 8 इंच तक होती है।

4. यदि आप सपने में कही पर पेशाब कर रहे हो तो इस बात के बहुत ज्यादा चांस है कि आप बिस्तर पर ही पेशाब कर देगे।

5. पेशाब में लगभग 3000 घटक होते है- इसमें 95% पानी, 2.5% यूरिया और 2.5% नमक, हार्मोन्स और कुछ पोषक तत्वों का मिश्रण होता है।

6. पूरे जीवनकाल में आपकी किडनी करीब 10 लाख गैलेन (37 lac litre) पानी को पेशाब में बदल चुकी होती है यह छोटी झील के बराबर है।

7. यदि आप कभी भी पानी के बिना रेगिस्तान में खो जाते हो तो अपना पेशाब मत पीना.. क्योंकि इसमें इतना नमक होता है कि यह आपकी प्यास बुझाने की बजाय आपके शरीर में और पानी की कमी कर देगा. यही कारण है कि अमेरिकी आर्मी में सैनिकों को किसी भी स्थिति में पेशाब न पीने की कड़ी सलाह दी जाती है।

8. बिल्ली का पेशाब अंधेरे में भी चमकता है क्योंकि इसमें ‘phosphorus‘ मौजूद होता है जो ‘oxygen‘ के संपर्क में आते ही चमकने लगता है।

9. दवा बनाने में भी पेशाब का इस्तेमाल किया जाता है जैसे:- Urokinese दवा, जो हार्ट अटैक के समय खून के थक्के जमने से रोकने में मदद करती है।

10. एक जवान आदमी 1 साल में पेशाब के जरिए इतनी हाॅइड्रोज़न पैदा कर देता है, जो एक कार को 2698km चलाने के लिए काफी है।

11. अंटार्कटिका के ग्लेशियरों में जमे हुए कुल बर्फ का 3% भाग पेंगुइनो का पेशाब है।

12. एक ही समय पर खून देना और पेशाब करना असंभव है।

13. नासा ने एक ऐसी मशीन बनाई है जो अंतरिक्ष यात्रियों के पेशाब को पीने के पानी योग्य बनाती है और यह पानी अमेरिका के नल पानी से भी शुद्ध होता है।

14. ये बात सच है कि पेशाब में बैक्टीरिया नही होते लेकिन केवल तब तक जब तक ये ब्लैडर में रहता है. जैसे ही मूत्रमार्ग या हवा के संपर्क में आता है इसमें बैक्टीरिया समा जाते है।

15. हमारे शरीर के अंदरूनी तापमान की वजह से हमारा पेशाब गर्म होता है और सर्दियों में तो इससे भाँप भी निकलती है।

16. एक घरेलू नुस्खा भी जान लो: पतली छाछ में चुटकी भर सोडा डालकर पीने से पेशाब की जलन दूर होती है।

17. खड़े होकर पेशाब करने से पुरूषों का सेक्स टाईम कम हो जाता है बल्कि जो लोग बैठ कर पेशाब करते है उनका सेक्स टाईम ज्यादा होता है. क्योंकि खड़े होकर पेशाब करने से मूत्राशय सही से खाली नही हो पाता और ऐसा बार-बार होने से ‘prostrate gland‘ खराब होने लगती है।

18. यदि हँसते, छींकतें और व्यायाम करते समय थोड़ा पेशाब निकल जाए तो उसे “Stress urinary incontinence” कहा जाता है।

19. गर्भवती महिला को जल्दी-जल्दी पेशाब आता है क्योंकि जैसे ही भ्रूण बड़ा होता है वो ब्लैडर के साइज को कम कर देता है जिससे उसमें कम पेशाब स्टोर हो पाता है।

20. महिलाओं को सेक्स के बाद पेशाब कर लेना चाहिए, क्योंकि महिलाओं की योनि में पहले से ही बैक्टीरिया मौजूद होते है जो सेक्स के दौरान मूत्रमार्ग(Urethra tube) के जरिए ब्लैडर(पेशाब की थैली) तक चले जाते है जिससे इंफेक्शन होने का खत्तरा रहता है।

21. करीब 200 साल पहले, यूरोपियन महिलाएँ खड़े होकर पेशाब करती थी क्योंकि वे लंबे कपड़े पहनती थी और इसके नीचे कोई जांघिया वगैरह भी नही होता था।

22. कनाडा में हर साल करीब 225 आदमी नाव पर खड़े होकर पेशाब करने के चक्कर में पैर फिसलकर गिर जाते है और डूब जाते है।

23. प्राचीन रोम के जासूस दस्तावेजों के बीच में रहस्यों को लिखने के लिए पेशाब को अदृश्य स्याही के रूप में इस्तेमाल करते थे. ये मैसेज तभी देखते थे जब इन्हें गर्म किया जाता था।

24. भालू जब शीतनिंद्रा में होते है तो कभी पेशाब नही करते, फिर चाहें ये 6 महीने लंबी ही क्यों न हो. शीतनिंद्रा के समय भालू का शरीर पेशाब को प्रोटीन में बदलकर भोजन के रूप में इसतेमाल कर लेता है।

25. लड़ाकू विमान के पायलेट पेशाब करने के लिए एक बैग जैसा कुछ पहनते है जिसे “piddle-pack” कहा जाता है।

26. साँपो में पेशाब इकट्ठा करने वाली थैली नही होती इसलिए इनका जैसे ही पेशाब बनता है उसे तुरंत निकाल देते है।

27. प्राचीन रोम के लोग पेशाब का इस्तेमाल दाँतो को साफ करने के लिए करते थे।

28. 1930 के दशक में, Penicillin इतना कीमती था, कि इसे मरीजों के पेशाब से भी निकाला जाता था।

29. 1950 के आसपास, महिला गर्भवती है या नही ये जानने के लिए चिकित्सक महिला की पेशाब को इंजेक्शन के माध्यम से मेंढ़क में डालते थे. यदि इंजेक्शन लगने के 24 घंटो के अंदर मेंढ़क अंडो का उत्पादन कर देता तो महिला को गर्भवती माना जाता था।

30. सबसे लंबे समय तक लगातार पेशाब करने का वर्ल्ड रिकाॅर्ड 508 seconds यानि 8.5 minute का है जबकि एक स्वस्थ मनुष्य केवल 7 seconds में पेशाब कर लेता है।

31. सबसे लंबी दूरी तक पेशाब की धार मारने का रिकाॅर्ड ‘ऐरिजोना‘ के “Joey Wallace” के नाम है इनकी पेशाब की धार 14 फ़ीट 1 इंच तक गयी थी

32. फव्वारें के नीचे नहाते समय 45%(2 में से 1) और स्विमिंग पूल में नहाते समय करीब 20%(5 में से 1) लोग पेशाब कर देते है. स्विमिंग पूल में नहाते समय आंखो का लाल होना पेशाब और क्लोरिन के मिक्चर के कारण होता है।

33. आपको जानकर हैरानी होगी कि पक्षियों में पेशाब और टट्टी निकालने के लिए केवल एक ही सुराग होता है. लेकिन ये पेशाब ठोस के रूप में करते है. मुर्गे, कबूत्तर वगैरह की लैटरिंग को कभी ध्यान ध्यान से देखिए आपको इसमें सफेद-सफेद सा कुछ दिखाई देगा और वो इसका पेशाब होता है।

34. भारत ने PM ‘Morarji Desai‘ ने एक बार खुद का पेशाब पीया था।

35. 2nd World War के दौरान क्लोरिन गैस से बचने के लिए सैनिकों को पेशाब से भीगा हुआ कपड़ा मुँह पर बांधने की सलाह दी जाती थी।

36. ‘स्वीडन‘ देश में जल्द ही एक कानून बनेगा जिसके अनुसार पब्लिक टाॅयलेट में पुरूषों को हमेशा बैठ कर पेशाब करना होगा।

37. बहुत से लोगों में “Shy Bladder Syndrome” होता है, जिससे इन्हें खुले में पेशाब करने में शर्म महसूस होती है और कई बार तो ये खुले में पेशाब कर ही नही पाते, इन्हें लगता है कोई हमें देख रहा है. विज्ञान की भाषा में इस डर को “Paruresis” कहा जाता है।

38. ‘Phosphorus‘ की खोज पेशाब के गर्म करने पर हुई थी. दरअसल सन् 1669 में जर्मनी के ‘Hennig brand‘ ने सोना निकालने के लिए 60 बाल्टी पेशाब को गर्म किया था उनका मानना था कि पेशाब पीला होता है इसलिए इसमें कीमती धातु हो सकती है. लेकिन जब इसे गर्म किया गया तो आखिर में एक ऐसी चीज बची जो अंधेरे में चमकती थी और इसे फाॅस्फोरस नाम दिया गया।

39. पुरूषों के शरीर से कभी भी वीर्य और पेशाब एक साथ नही निकल सकते. क्योंकि वीर्य छोड़ते समय एक मांसपेशी के सिकुड़ने की वजह से पेशाब वाली थैली का रास्ता बंद हो जाता है और ये वीर्य छोड़ने के कुछ समय बाद तक भी बंद ही रहता है. कभी सेक्स या हस्तमैथुन करके तुरंत पेशाब करने की ट्राई किजिएगा, सब पता चल जाएगा. यही कारण है कि लिंग से पेशाब और स्पर्म एक समय पर नही निकल सकते. लेकिन अगर पेशाब करने से पहले थोड़ी उत्तेजना हो जाए तो पेशाब के साथ पानी जैसा सफेद liquid भी पेनिस से गिरता है.. दरअसल, यह वीर्य नही बल्कि इसे ‘pre-cum‘ कहा जाता है. इसमें मरे हुए शुक्राणु होते है इसलिए इससे महिला गर्भवती नही हो सकती।

40. ये बात अपने दिमाग से निकाल दो, कि लड़कियाँ अपनी योनि से पेशाब करती है बल्कि इनकी योनि में दो सुराग होते है एक पेशाब करने के लिए और दूसरा केवल सेक्स करने के लिए. पेशाब करने वाला सुराग सेक्स करने वाले से थोड़ा ऊपर होता है।

क्या आपको और भी ऐसी पोस्ट चाहिए ? और आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट में बताइए. आपका कमेंट वेबसाइट पर सबको दिखेगा और मैं खुद सभी कमेंट पढूँगा और जरूरत पड़ने पर उसका जवाब भी दूँगा. इसलिए नीचे कमेंट करना न भूले. धन्यवाद।

Related Post:
Loading...



loading...

30 Comments

  1. Amit Sahu November 17, 2017
    • Ankit Banger November 18, 2017
  2. Brijesh Kannaujiya November 17, 2017
  3. Abdul Kadir November 17, 2017
  4. अंकित November 17, 2017
  5. Rajeev Kumar Panda November 17, 2017
  6. अजित साह November 17, 2017
    • Ankit Banger November 18, 2017
  7. itrat abbas November 18, 2017
  8. Meena Gupta November 18, 2017
  9. Rajdeep Singh November 18, 2017
  10. samir November 18, 2017
  11. Ram shakal November 18, 2017
  12. kapil kumar November 18, 2017
  13. Gurmukh saini November 18, 2017
  14. Kishan kumar November 18, 2017
  15. Raj November 18, 2017
  16. M.G. Goyal November 18, 2017
  17. Parmeshwar November 19, 2017
  18. Jaipal rohilla November 19, 2017
  19. Aman November 20, 2017
  20. ASHOK KUMAWAT November 20, 2017
  21. आशीष डोभाल November 20, 2017
  22. Mahatab singh November 21, 2017
  23. Jitender singh November 22, 2017
  24. Atishay Jain November 22, 2017
  25. Hindi bolegi November 22, 2017
  26. Ajit singh December 15, 2017

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *