भारतीय मुद्रा (रुपया ₹) से जुड़े 31 ग़ज़ब रोचक तथ्य, Indian Currency in Hindi

Amazing Facts about Indian Currency in Hindi – भारतीय रुपयें के बारे में रोचक तथ्य

मुद्रारुपया, रुपया, रुपया! … सभी का यही हाल हैं। आप की कीमत तब तक है जब तक आप के पास ऐसा कुछ है जो पैसे से ख़रीदा ना जा सके। हम आपको रुपये की शुरूआत से लेकर बहुत से सवालों के जवाब देंगे। मैं आज आपके साथ Indian Currency Facts, Hindi में share कर रहा हूँ. मेरी कोशिश होगी की यह लेख Hindi में इस विषय पर लिखे गए सबसे अच्छे लेखों में से एक हो.

1. भारत में करंसी का इतिहास 2500 साल पुराना हैं। इसकी शुरूआत एक राजा द्वारा की गई थी।

2. अगर आपके पास आधे से ज्यादा (51 फीसदी) फटा हुआ नोट है तो भी आप बैंक में जाकर उसे बदल सकते हैं।

3. बात सन् 1917 की हैं, जब 1₹ रुपया 13$ डाॅलर के बराबर हुआ करता था। फिर 1947 में भारत आजाद हुआ, 1₹ = 1$ कर दिया गया. फिर धीरे-धीरे भारत पर कर्ज बढ़ने लगा तो इंदिरा गांधी ने कर्ज चुकाने के लिए रूपये की कीमत कम करने का फैसला लिया उसके बाद आज तक रूपये की कीमत घटती आ रही हैं।

4. अगर अंग्रेजों का बस चलता तो आज भारत की करंसी पाउंड होती. लेकिन रुपए की मजबूती के कारण ऐसा संभव नही हुआ।

5. इस समय भारत में 400 करोड़ रूपए के नकली नोट हैं। उम्मीद है कि अब ये खत्म हो जाएगे

6. सुरक्षा कारणों की वजह से आपको नोट के सीरियल नंबर में I, J, O, X, Y, Z अक्षर नही मिलेंगे।

7. हर भारतीय नोट पर किसी न किसी चीज की फोटो छपी होती हैं जैसे- 20 रुपए के नोट पर अंडमान आइलैंड की तस्वीर है। वहीं, 10 रुपए के नोट पर हाथी, गैंडा और शेर छपा हुआ है, जबकि 100 रुपए के नोट पर पहाड़ और बादल की तस्वीर है। इसके अलावा 500 रुपए के नोट पर आजादी के आंदोलन से जुड़ी 11 मूर्ति की तस्वीर छपी हैं।

8. भारतीय नोट पर उसकी कीमत 15 भाषाओं में लिखी जाती हैं।

9. 1₹ में 100 पैसे होगे, ये बात सन् 1957 में लागू की गई थी। पहले इसे 16 आने में बाँटा जाता था। (सन् 1905 में बना 1 आनें का सिक्का मेरे पास भी है. देखने के लिए यहाँ क्लिक करें.)

10. RBI, ने जनवरी 1938 में पहली बार 5₹ की पेपर करंसी छापी थी. जिस पर किंग जार्ज-6 का चित्र था। इसी साल 10,000₹ का नोट भी छापा गया था लेकिन 1978 में इसे पूरी तरह बंद कर दिया गया।

11. आजादी के बाद पाकिस्तान ने तब तक भारतीय मुद्रा का प्रयोग किया जब तक उन्होनें काम चलाने लायक नोट न छाप लिए।

12. भारतीय नोट किसी आम कागज के नही, बल्कि काॅटन के बने होते हैं। ये इतने मजबूत होते हैं कि आप नए नोट के दोनो सिरों को पकड़कर उसे फाड़ नही सकते।

13. एक समय ऐसा था, जब बांग्लादेश ब्लेड बनाने के लिए भारत से 5 रूपए के सिक्के मंगाया करता था. 5 रूपए के एक सिक्के से 6 ब्लेड बनते थे. 1 ब्लेड की कीमत 2 रूपए होती थी तो ब्लेड बनाने वाले को अच्छा फायदा होता था. इसे देखते हुए भारत सरकार ने सिक्का बनाने वाला मेटल ही बदल दिया।

14. आजादी के बाद सिक्के तांबे के बनते थे। उसके बाद 1964 में एल्युमिनियम के और 1988 में स्टेनलेस स्टील के बनने शुरू हुए।

मुद्रा

15. भारतीय नोट पर महात्मा गांधी की जो फोटो छपती हैं वह तब खीँची गई थी जब गांधीजी, तत्कालीन बर्मा और भारत में ब्रिटिश सेक्रेटरी के रूप में कार्यरत फ्रेडरिक पेथिक लॉरेंस के साथ कोलकाता स्थित वायसराय हाउस में मुलाकात करने गए थे। यह फोटो 1996 में नोटों पर छपनी शुरू हुई थी। इससे पहले महात्मा गांधी की जगह अशोक स्तंभ छापा जाता था।

16. भारत के 500 और 1,000 रूपये के नोट नेपाल में नही चलते। और अब तो भारत में भी नही चल रहे.

17. 500₹ का पहला नोट 1987 में और 1,000₹ पहला नोट सन् 2000 में बनाया गया था। फिलहाल 1,000₹ का नोट बंद हो चुका है। और 500₹ का नया नोट मार्केट में आ गया है. 2000₹ का पहला नोट सन् 2016 में बनाया गया था.

18. भारत में 75, 100 और 1,000₹ के भी सिक्के छप चुके हैं।

19. 1₹ का नोट भारत सरकार द्वारा और 2 से 1,000₹ तक के नोट RBI द्वारा जारी किये जाते थे.

20. एक समय पर भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए 0₹ का नोट 5thpillar नाम की गैर सरकारी संस्था द्वारा जारी किए गए थे।

21. 10₹ के सिक्के को बनाने में 6.10₹ की लागत आती हैं.

22. नोटो पर सीरियल नंबर इसलिए डाला जाता हैं ताकि आरबीआई(RBI) को पता चलता रहे कि इस समय मार्केट में कितनी करंसी हैं।

23. रूपया भारत के अलावा इंडोनेशिया, मॉरीशस, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका की भी करंसी हैं।

24. According to RBI, भारत हर साल 2,000 करोड़ करंसी नोट छापता हैं।

25. कम्प्यूटर पर ₹ टाइप करने के लिए ‘Ctrl+Shift+$’ के बटन को एक साथ दबावें.

26. ₹ के इस चिन्ह को 2010 में उदय कुमार ने बनाया था। इसके लिए इनको 2.5 लाख रूपयें का इनाम भी मिला था।

27. क्या RBI जितना मर्जी चाहे उतनी कीमत के नोट छाप सकती हैं ?

ऐसा नही हैं, कि RBI जितनी मर्जी चाहे उतनी कीमत के नोट छाप सकती हैं, बल्कि वह सिर्फ 10,000₹ तक के नोट छाप सकती हैं। अगर इससे ज्यादा कीमत के नोट छापने हैं तो उसको रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया एक्ट, 1934 में बदलाव करना होगा।

28. जब हमारे पास मशीन हैं तो हम अनगणित नोट क्यों नही छाप सकते ?

हम कितने नोट छाप सकते हैं इसका निर्धारण मुद्रा स्फीति, जीडीपी ग्रोथ, बैंक नोट्स के रिप्लेसमेंट और रिजर्व बैंक के स्टॉक के आधार पर किया जाता है।

29. हर सिक्के पर सन् के नीचे एक खास निशान बना होता हैं आप उस निशान को देखकर पता लगा सकते हैं कि ये सिक्का कहाँ बना हैं.

  • मुंबई – हीरा [◆]
  • नोएडा – डाॅट [.]
  • हैदराबाद – सितारा [★]
  • कोलकाता – कोई निशान नहीं.

30. जानिए, एक नोट कितने रूपयें में छपता हैं।

  • 1₹ = 1.14₹
  • 10₹ = 0.66₹
  • 20₹ = 0.94₹
  • 50₹ = 1.63₹
  • 100₹ = 1.20₹
  • 500₹ = 2.45₹
  • 2,000₹ = फिलहाल कुछ पता नही.

31. रूपया, डाॅलर के मुकाबले बेशक कमजोर हैं लेकिन फिर भी कुछ देश ऐसे हैं, जिनकी करंसी के आगे रूपया काफी बड़ा हैं आप कम पैसों में इन देशों में घूमने का लुत्फ उठा सकते हैं.

  • नेपाल (1₹ = 1.60 नेपाली रुपया)
  • आइसलैंड (1₹ = 1.94 क्रोन)
  • श्रीलंका (1₹ = 2.10 श्रीलंकाई रुपया)
  • हंगरी (1₹ = 4.27 फोरिंट)
  • कंबोडिया (1₹ = 62.34 रियाल)
  • पराग्‍वे (1₹ = 84.73 गुआरनी)
  • इंडोनेशिया (1₹ = 222.58 इंडोनेशियन रूपैया)
  • बेलारूस (1₹ = 267.97 बेलारूसी रुबल)
  • वियतनाम (1₹ = 340.39 वियतनामी डॉन्‍ग).

आप इस पोस्ट से संतुष्ट हुए या नही ? आपने भारतीय रुपयें के बारे में इतनी Detail में आज तक नही पढ़ा होगा.. आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेंट में जरूर बताएँ.

Related Post:
Loading...


loading...

80 Comments

  1. anand kumar August 5, 2016
    • ranjeet August 5, 2016
    • Sunny August 5, 2016
    • Parul Agrawal @HindiMind November 10, 2016
    • vaibhav January 10, 2017
    • prateek malik January 18, 2017
  2. vishal August 5, 2016
  3. vivek pandey August 5, 2016
  4. vikram August 5, 2016
  5. Jay Govind giri August 5, 2016
  6. Shiva kant August 5, 2016
  7. ashish August 5, 2016
  8. Sonu Singh August 5, 2016
  9. kamal August 5, 2016
  10. vinay Singh August 6, 2016
  11. ajeet kumar August 7, 2016
  12. Priyaranjan kumar August 7, 2016
  13. Vishal Kumar Jaiswal August 9, 2016
  14. umesh August 18, 2016
  15. Rakesh September 4, 2016
    • बाळासो September 21, 2016
  16. KULDEEP GEHLOT September 20, 2016
    • Ankit Banger March 4, 2017
  17. Arvind garg September 23, 2016
  18. mukesh mehra September 25, 2016
  19. Lokendra singh September 25, 2016
  20. Vinod September 26, 2016
  21. sanjay soni September 26, 2016
  22. Mohit kumar September 26, 2016
  23. gaji September 27, 2016
  24. shahrukh-khan September 27, 2016
  25. Ganesh Babu October 9, 2016
  26. Gulshan kumar October 15, 2016
  27. jafruddin khan October 18, 2016
  28. manoj October 22, 2016
  29. Alok nayak October 23, 2016
  30. Gurwinder Singh Bhan October 26, 2016
  31. Anil kailram October 27, 2016
  32. sanjeev nayak October 28, 2016
  33. YOGESH KUMAR November 9, 2016
  34. Arock sharma November 9, 2016
  35. Ashish November 9, 2016
  36. rahul November 9, 2016
  37. GAYAS AHMAD November 10, 2016
  38. Shreyansh November 10, 2016
  39. sudhir November 10, 2016
  40. pradeep kumar November 10, 2016
  41. Prince mishra November 10, 2016
  42. NSP November 10, 2016
  43. अनु मलिक November 10, 2016
  44. SANDEEP VERMA November 11, 2016
  45. Pratik November 11, 2016
  46. Durga pandey November 11, 2016
  47. Bishwas Shah November 12, 2016
  48. rahul kumar November 14, 2016
  49. दीपक November 14, 2016
  50. jatinder mohan November 25, 2016
  51. Govind Kumar November 27, 2016
  52. Pawan December 1, 2016
  53. Yash K. December 2, 2016
  54. Shivkaran singh December 2, 2016
  55. Rahul Sachdeva December 3, 2016
  56. Shahrukh December 5, 2016
    • रशीद सिद्दीकी January 11, 2017
  57. Vipin vohra December 12, 2016
  58. Rocky December 16, 2016
  59. Rakesh December 16, 2016
  60. Modiram Doraya December 19, 2016
  61. Dev gurjar January 3, 2017
  62. prateek malik January 18, 2017
  63. Shyam veer February 23, 2017
  64. Saurav kumar March 29, 2017
    • Ankit Banger March 31, 2017
  65. Raghav March 29, 2017
  66. ABHISHEK YADAV March 30, 2017
  67. Abdul Satar March 30, 2017
  68. Anil Kumar March 30, 2017
  69. sandeep kumar October 22, 2017
  70. Vinayak November 7, 2017

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *