’26 जनवरी’: गणतंत्र दिवस से जुड़े 10 रोचक तथ्य, Republic Day in Hindi

गणतंत्र दिवस: आज हम आपको 26 जनवरी यानि Republic Day से जुड़ी 10 ऐसी बातें बताएगे, जो हम किसी कारणवश कल नही बता पाएँ। ये बातें आपका सामान्य ज्ञान तो बढाएगी ही साथ में आपको मजेदार भी लगेगी।

गणतंत्र दिवस
1. भारत के तीन अवकाशों में से एक 26 जनवरी को हर साल हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में इसलिए भी चुना गया क्योकिं 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था। 1950 में इसी दिन 10:18 मिनट पर भारतीय संविधान लागू किया गया था। और इसके 6 मिनट बाद भारत के पहले राष्ट्रपति डाॅ. राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाऊस में राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी।

2. भारतीय संविधान पूरी तरह से हाथ से लिखा गया था, जो हिंदी और अंग्रेजी दोनों में है. हाथ से लिखी गई सविधान की असली काॅपी को हिलियम से भरे बक्शों में संसद भवन की लाइब्रेरी में रखा गया है।

3. गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रपति राजपथ पर तिरंगा फहराते है और प्रधानमंत्री अमर जवान ज्योति पर देश की आजादी में बलिदान देने वाले शहीदों को श्रृद्धाजंलि देते है।

4. 1950 से लेकर 1954 तक गणतंत्र दिवस की परेड के लिए कोई जगह फिक्स नही थी। कभी इर्विन स्टेडियम, किंग्सवे, लाल किला तो कभी रामलीला मैदान में गणतंत्र दिवस मनाया जाता था। फिर 1955 में परेड के लिए राजपथ फिक्स कर दिया गया।

5. परेड के दौरान राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी जाती है. दरअसल, ये सलामी भारतीय सेना की 7 तोपों से दी जाती है. ये तोपें 1941 में बनाई गई थी. राष्ट्रगान शुरू होते ही पहली सलामी और फिर 52 सेकंड बाद आखिरी सलामी दी जाती है।

6. राजपथ पर हर झांकी 5KM/H की बहुत धीमी रफ्तार से चलती है ताकि देखने वाले अच्छी तरह से देख सके. झांकी के आगे चलने वाला सिपाही संगीत की ताल पर मार्च करता है और झांकी का ड्राइवर छोटी सी खिड़की से उसे देखता रहता है।

7. हर साल 26 जनवरी पर किसी न किसी देश को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया जाता है। पहले गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बने थे “इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णों”।

8. हर साल Republic Day की परेड के अंत में “Abide With Me” नाम का Christian song बजाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि ये महात्मा गांधी का पसंदीदा गाना था।

9. गणतंत्र दिवस समारोह, समय की पूरी पाबंदी के साथ मनाया जाता है, हर सेकंड का हिसाब किया जाता है. मतलब, यदि समारोह 1 मिनट की देरी से शुरू हुआ है तो 1 मिनट की देरी से ही खत्म होगा।

10. शायद आपको ना पता हो, कि गणतंत्र दिवस समारोह 3 दिन तक चलता है. 29 जनवरी को विजय चौक पर “Beating Retreat Ceremony” का आयोजन करके गणतंत्र दिवस का समापन किया जाता है।

Related Post:
Loading...
loading...

नई पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Subscribe करें.

सब्क्रिप्सन फ्री है

Email-ID* को Verify करना न भूलें. बहुत से भूल जाते है लेकिन आप थोड़े समझदार लग रहे है इसलिए.

6 Comments

  1. Himanshu
  2. Kamal kant
  3. Hemant goawami

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *