पिरामिड के बारे में 25 रोचक तथ्य, Egypt Pyramids in Hindi

Amazing Facts about Egypt Pyramids in Hindi – पिरामिड के बारे में रोचक तथ्य

पिरामिडआज हम बात करेगे विश्व के प्राचीन सात अजूबों में शामिल मिस्र के पिरामिडों के बारे में. ये पिरामिड राजाओं को दफनाने के लिए बनाने गए थे. क्या आप जानते है गिजा के महान पिरामिड का वजन 5.5 अरब किलों है ? चलिए आज वास्तुशिल्प के इस अचंभे को डिटेल करते है…

1. पूरी दुनिया में कितने पिरामिड है ये कहना तो मुश्किल है लेकिन मिस्र में अभी तक 140 पिरामिड खोजें जा चुके है।

2. ऐसा माना जाता है कि धरती पर पिरामिड जैसा पहला ढाँचा आज से 5000 साल पहले ‘Mesopotamians‘ द्वारा बनाया गया था।

3. दुनिया का सबसे बड़ा पिरामिड मिस्र में नही, बल्कि मैक्सिकों में है। जिसका बेस 1480 ft. का है।

4. गिज़ा का ग्रेट पिरामिड विश्व के प्राचीन सात अजूबों में सबसे पुराना और अकेला ऐसा है जो अभी भी आस्तित्व में है।

5. मिस्र के पिरामिडों की उम्र 4500 साल हो चुकी है लेकिन ये अभी भी सही सलामत है.. इनके अभी तक बचे रहने का एक कारण इनमें प्रयोग किया गया मोर्टार पत्थर भी है जो आम पत्थर से मजबूत होता है।

6. ‘Djoser के पिरामिड‘ को मिस्र का सबसे पुराना पिरामिड माना गया है जो 27 वीं शताब्दी ईसा पूर्व के दौरान ‘Saqqara Necropolis’ में बनाया गया था।

7. कुफु का पिरामिड (जिसे गिजा का ग्रेट पिरामिड भी कहा जाता है) अब तक का सबसे ऊँचा पिरामिड है जिसकी असली ऊँचाई 480.6 फीट थी जो ऊपर से 25 फीट ढह जाने के बाद अब 455.4 फीट रह गई है. यह लगभग 3871 साल तक दुनिया की सबसे ऊंची इमारत रहा लेकिन 1311 में इंग्लैंड ने लोगो ने 524 फीट ऊंचा गिरिजाघर बनाकर यह रिकाॅर्ड तोड़ दिया. ये गिरिजाघर आज भी दुनिया का दूसरा सबसे ऊंचा गिरिजाघर है।

8. सभी पिरामिड नील नदी के पश्चिमी तट पर बनाए गए है।

9. पिरामिड बनाने में 1 लाख मजदूर लगे थे और ये किसी के गुलाम नही थे बल्कि हर रोज अपना वेतन लेते थे।

10. गिज़ा के ग्रेट पिरामिड को महान sphinx द्वारा guard किया गया है. ये दुनिया में पत्थर की सबसे बड़ी मूर्ति भी है और ऐसा माना जाता है कि ये ‘Khafra‘ राजा का चेहरा है।

11. एक अनुमान के अनुसार गिज़ा के पिरामिड को बनाने में 23 लाख पत्थर के टकड़ो का इस्तेमाल हुआ है जिनका वज़न 2 से 30 टन और कुछ का वजन 45000 किलो तक था।

12. औसतन एक पिरामिड को बनाने में 200 साल और गिज़ा के ग्रेट पिरामिड को बनाने में 85 साल लगे. इसका मतलब एक समय पर सिर्फ एक नही बल्कि कई पिरामिड बनाए जाते थे।

13. ग्रेट पिरामिड धरती का वो सबसे सटीक ढाँचा है जो उतर दिशा को बताता है. मिस्र के लोगो ने केवल ज्योतिष की मदद से हजारों साल पहले ऐसा कर दिखाया था. पिरामिड के आगे का भाग उत्तर दिशा में केवल 3/60 डिग्री गलत है और यह भी इसलिए संभव हुआ है क्योंकि समय के साथ धरती का north pole बदल जाता है इसलिए एक समय पर पिरामिड अपने जगह एकदम सही था।

14. गिज़ा के महान पिरामिड की 8 sides है, लेकिन ये सिर्फ आसमान से दिखाई देती है।

15. ग्रेट पिरामिड की sides थोड़ी-सी concave lens की तरह है. ये एकमात्र ऐसा पिरामिड है जिसमें ये सुविधा है।

16. गिज़ा के ग्रेट पिरामिड और अन्य दो पिरामिडों में कुछ नकली और एक असली दरवाजा था. ये दरवाजा इतने ग़ज़ब तरीके से बनाया गया था कि 18000 किलो वजन होने के बाद भी यह एक धक्के में खुल जाता है।

17. इसे संयोग ही मानियेगा, कि लाईट की स्पीड और गिज़ा के ग्रेट पिरामिड का निर्देशांक दोनों सामान है।

18. तीन पिरामिड: ‘Khufu, Khafre और Menkaure‘ उन्हीं तारों की दिशा में है जो ओरियन बेल्ट के नक्षत्र बनाते है।

19. बाहर बहुत ज्यादा गर्मी होने के बाद भी पिरामिड के अंदर का तापमान हमेशा 20°C रहता है।

20. आज से 4000 साल पहले पिरामिड शीशे की तरह चमकते थे क्योंकि इन्हें पाॅलिश किए गए सफेद चूना पत्थर से कवर किया गया था. ये सूर्य की रोशनी को रिफ्लेक्ट करते थे और इजरायल की पहाड़ियों से भी दिखाई देते थे और हो सकता है चाँद से भी।

21. सबसे अधिक पिरामिड मिस्र में नही बल्कि सूडान में है।

22. 12th सेंचुरी में कुर्दिश राजा अल-अज़ीज़ और मिस्र के दूसरे अय्युबिद सुल्तान ने गिजा पिरामिड को नष्ट करने की कोशिश की थी लेकिन वह थोड़े ही सफल हो पाए क्योंकि पिरमिड बहुत बड़ा था।

24. इस बात का सही अनुमान लगाना थोड़ा मुश्किल है लेकिन गिज़ा के पिरामिड को बनाने में लगभग 5.5 अरब किलो (60 लाख टन) सामग्री लगी है जो इंग्लैड की सभी चर्च और गिरिजाघरों को बनाने के बराबर है।

25. आप पिरामिड के ऊपर भी चढ़ सकते है. लेकिन सिर्फ एक बार… क्योंकि यदि कोई टूरिस्ट ऐसा करता है तो जीवनभर उसके मिस्र आने पर बैन लग जाता है. इसके ऊपर चढ़ने के लिए आपको 203 सीढियाँ चढ़नी होगी।

आज हमने जानकारी के लिए पोस्ट के अंदर इमेज भी एड की है आपको कैसी लगी ये पोस्ट… नीचे कमेंट में बताना जरूर…

Related Post:
Loading...
loading...

नई पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Subscribe करें.

सब्क्रिप्सन फ्री है

Email-ID* को Verify करना न भूलें. बहुत से भूल जाते है लेकिन आप थोड़े समझदार लग रहे है इसलिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *