बैक्टीरिया यानि जीवाणु के बारे में 28 रोचक तथ्य, Bacteria In Hindi

Amazing Facts about Bacteria in Hindi – जीवाणुओं से जुड़े रोचक तथ्य

बैक्टीरियाबैक्टीरिया को हिंदी में जीवाणु कहते है. इनकी खोज 17वीं सदी में की गई थी. मिट्टी से लेकर पानी तक, टाॅयलेट सीट से मोबाइल तक ये धरती पर हर जगह पाए जाते है. किसी भी और जीवित चीज की बजाय हमारी जिंदगी का सबसे ज्यादा समय बैक्टीरिया के साथ गुजरेगा.
आइए बैक्टीरिया यानि जीवाणु के रोचक तथ्य डिटेल करते है…

1. बैक्टीरिया एककोशिकीय जीव (Unicellular organisms) होते है वैसे तो हम इन्हें बिना माइक्रोस्काॅप के नही देख सकते. लेकिन एक-दो ऐसे भी है जो नंगी आंखो से देखे जा सकते है.

2. बैक्टीरिया को पृथ्वी का पहला जीवित जीव माना गया है. ये पिछले 3 अरब साल से पृथ्वी पर है.

3. आपके मुँह में जीवाणुओं की संख्या धरती पर मौजूद कुल इंसानों से ज्यादा है.

4. एक बैक्टीरिया की लंबाई 0.5 से 5 micrometers तक होती है. ये गोल, चक्राकार या छड़ आदि किसी भी आकार के हो सकते है. (1 meter में 10 लाख micrometeres होते है)

5. प्रकृति में सबसे छोटी आंखे बैक्टीरिया की होती है लेकिन शरीर के आकार के हिसाब से सबसे बड़ी होती है.

6. नवज़ात बच्चों के शरीर में एक भी बैक्टीरिया नही होता.

7. मोबाइल फोन पर टाॅयलेट सीट से 18 गुना ज्यादा बैक्टीरिया होते है. और Keyboard पर एक Toilet Sheet के मुकाबले 200 गुणा ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं और Office Desk पर 400 गुना ज्यादा.

8. एक घंटे तक हेडफोन लगाकर गाने सुनने से कानों में बैक्टीरिया की संख्या 700 गुना तक बढ़ जाती है.

9. बारिश की बूंदो में से जो खूशब आती है उसके लिए ‘actinomycetes’ नाम का बैक्टीरिया जिम्मेदार होता है.

10. हमारे शरीर में मौजूद सभी जीवाणुओं का कुल वजन लगभग 1.8 किलो होता है.

11. हमारे त्वचा और पेट में लगभग 1000 तरह के जीवाणु पाए जाते है.

12. अगर बैक्टीरिया ना हो तो गली सड़ी चीजों का खाद नही बन सकता.

13. हर साल food poisoning के 7 करोड़ मामले सामने आते है यानि हर सेकंड में 2 मामले.

14. एक साफ-सुथरे मुंह में भी हर दांत पर 1 हजार से लेकर 1 लाख तक बैक्टीरिया हो सकते है.

15. कुछ बैक्टीरिया हमारे लिए लाभदायक भी होते है जैसे दूध से दही बनना भी एक बैक्टीरिया के कारण होता है. जिसका नाम है लैक्टोबैसिल्ली (Lactobacilli).

16. पानी में क्लोरीन का असर केवल छः महीने तक रहता है इसके बाद पानी में दोबारा बैक्टीरिया बढ़ने लगते है.

17. हमारी नाभि में 1458 नए तरह के बैक्टीरिया पाए गए है.

18. गंगा नदी का पानी इसलिए खराब नही होता क्योंकि गंगा के पानी में ऐसे बैक्टीरिया होते है जो पानी को सड़ाने वाले कीटाणुओं को पैदा ही नही होने देते. इसी वजह से यह खराब नही होता.

19. एक आम नोट पर 3 हज़ार प्रकार के लाखों बैक्टीरिया होते है.

20. जिन जगहों पर काम करने वालों में पुरूषों की संख्या ज्यादा हो वहां पर जीवाणुओं की संख्या भी ज्यादा होती है.

21. अधिकत्तर एंटीबाॅयोटिक्स दवाइयाँ (antibiotics) बैक्टीरिया से ही बनाई जाती है.

22. धरती का सबसे मजबूत जीवित जीव ‘Gonorrhea’ नाम का बैक्टीरिया है. यह अपने वजन से 1 लाख गुना अधिक वजन खींच सकता है.

23. अश्वनाल एक समुंद्री केकड़े की किस्म है जिसका खून 9 लाख रूपए प्रतिलीटर तक बिकता है क्योकि वो बैक्टीरिया का पता आसानी से लगा सकता है.

24. जब दो लोग आपस में kiss करते है तो दोनों के बीच एक करोड़ से लेकर एक अरब तक जीवाणुओं का ट्रांसफर हो जाता है.

25. नासा के वैज्ञानिकों ने ISS यानि अंतरिक्ष स्पेस स्टेशन पर एक नए जीव की खोज की है. जिसका नाम भारत के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के नाम पर रखा गया. उसका नाम है – कलामी.

26. 2013 में, न्यूजीलैंड में एक ऐसा बैक्टीरिया पाया गया था जिस पर अभी तक बनाई गई किसी भी एंटीबाॅयोटिक ने काम नही किया.

27. पसीने की कोई गंध नही होती. जब इसमें जीवाणु मिल जाते है तब बदबू आने लगती है.

28. एक अनुमान के मुताबिक, पृथ्वी पर लगभग 5,000,000,000,000,000,000,000,000,000,000 बैक्टीरिया मौजूद है. पांच मिलियन ट्रिलियन ट्रिलियन यानि 5 के पीछे 30 जीरो.

ये भी पढ़े:
  1. 'तिरंगे' से जुड़े 25 रोचक तथ्य
  2. 'मानव शरीर' के बारे में 20+ रोचक तथ्य
  3. 'Titanic' जहाज से जुड़े 35 रोचक तथ्य
  4. 'नरेंद्र मोदी' के बारे में 25 रोचक तथ्य
  5. 'भगत सिँह' के बारे में 20 रोचक तथ्य
  6. 'महात्मा गाँधी' के बारे में 30+ सीक्रेट रोचक तथ्य
अपनी खुद की फोटो के ऊपर फैक्ट्स लिखवाने के लिए यहाँ क्लिक करके GazabHindi को Instagram पर फाॅलो करना न भूलें. इससे आपकी लोगो में पहचान बढ़ेगी और ज्यादा से ज्यादा लोग आपको by face जानने लगेगे. जल्दी करे इसमें आपका ही फायदा है.
Related Post:
loading...

नई पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Subscribe करें.

सब्क्रिप्सन फ्री है

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *